EXISTENCE…

Feelings of a girl child who was brought to death seconds after birth just because she happened to be a girl child! She is fighting for her own existence in this world which was never hers and where She was not even allowed to live!

A silent struggle for her own existence!

Author – Prabha Jain ‘Shree’

दुनियाँ की इस भीड़ में जन्म ले, आया मेरा वजूद 

देख कर नजरअंदाज  किया मेरा वजूद 


नहीं    हैं   मेरी   फितरत  में, 

गमों   की  दुकान  सजा  लेना

हूँ    मैं       तुम्हारा      वजूद 

रवि की तरह चमक जाऊँगी

Image result for aborted girl child


हटा पल्ला बादलों की ओट से 

आईनें  में झलक दिखला जाऊँगी  


उठाई  उँगली  मेरे  वजूद  पर

उस          समय समझने     की    मेरी उम्र भी

ना           रहीं          होगी

Image result for girl child


इकरार    और   इंतकाम    में पिसती  जो जिंदगी

सिर्फ   और    सिर्फ   मांगती

 एक          वजूद       जिंदगी 


बनता     हैं       तेरा      हक

मेरी      रूह                तक 

पर  वजूद भी मान  ले  वन्दे 

कोई    शक, जिद्द     ना   कर

Image result for girl child


डाल पर लगा सुन्दर वजूद हूँ

 खिल -खिला रहा लाल गुलाब हूँ

 नहीं स्वीकार किया अपनों ने 

कुछ    काँटों    की      वजह

Image result for girl child


जरा   से   स्पर्श  से  झड़ गयी एक  -एक       पत्ती        मेरी

शून्य    था   उस   समय जहाँ

शून्य     थी    सब    भावनाएं

शून्य     था      वो     आकाश

बे आवाज़ गिरी  पत्तियाँ   मेरी

Image result for girl child


काँटों के नीचे मिट्टी में पड़ी हूँ 

और ढूंढ  रहीं हूँ अपना वजूद 

और ढूंढ  रहीं हूँ अपना वजूद

About the author

Pooja Jain

A passionate doctor, a writer, blogger, avid reader, music lover, painter, coffee freak and a traveller!!….

I’m simply happy being me….I believe every single day holds the potential of beauty……A person who tries to look into positive in almost every situation...In short I'm just myself inspiring others in my journey!!

'Spread your wings,it's time to fly...Make the Leap, Own the sky!!!'

View all posts

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *